बैकारेट खुला है

बैकारेट खुला है

time:2021-10-25 17:51:00 सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट Views:4591

ऑनलाइन स्लॉट मेगावे बैकारेट खुला है 188bet भारत,casumo स्पोर्ट्स,lovebet १० मुफ्त शर्त,lovebet ईर्निंग,lovebet लाभ,lovebet48,बी म्यूनिख लवबेट,बैकारेट इंडिया,बैकरेट के कैसीनो फायदे,सट्टेबाजी वीआईपी,कैसीनो दिन दक्षिण अफ्रीका,कैसिनोडेज रिव्यू,कॉमनवेल्थ ऑफ क्रिकेट बुक रिव्यू,क्रिकेट खिलाड़ियों का नाम,भविष्य का निर्यात,मछली पकड़ने की भीड़ झील मिशिगन,फुटबॉल शब्दावली,क्रिकेट से संबंधित जीके,बैकारेट चार्ट को कैसे देखें,आईपीएल कल मैच,जंगल रम्मी एंड्रॉइड ऐप,लाइव कैसीनो गोवा,लॉटरी एरिजोना,लूडो गेम ऑनलाइन,ओ कैसीनो फिल्म,ऑनलाइन गेम की लत,ऑनलाइन पोकर वर्जीनिया,पैरिमैच प्रायोजन,पोकर ओ लाइट,प्रतिष्ठित समय लॉटरी प्लेटफार्म,नियम बनाम अधिनियम उपयोगितावाद,रम्मीकल्चर ग्राहक संख्या,राख के लिए स्लॉट मशीन कलश,खेल की किताबें पीडीएफ,स्पोर्ट्सबुक वीआईपी,टेक्सास होल्डम वर्टिगकीट,यूईएफए चैंपियंस लीग बास्केटबॉल,कौन सा बैकारेट प्लेटफॉर्म सबसे सुरक्षित है,राशि चक्र ऑनलाइन स्लॉट,ऑनलाइन जुआ web,क्रिकेट ः२० लाइव,गोवा फॉरवर्ड पार्टी,तीन पत्ती ढाणी,बकरा समानार्थी शब्द मराठी,बैकारेट in marathi,साइगॉन फाइव पॉइंट्स, .सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट

बेंगलुरु और हैदराबाद में यह आंकड़ा 5 फीसदी से भी कम है. वहीं, मुंबई और दिल्‍ली-एनसीआर में यह संख्‍या 20 फीसदी से ज्‍यादा है.
बेंगलुरु : मार्च में सामान्‍य स्‍तर से नवंबर के अंत तक सिर्फ 10 फीसदी कर्मचारी ऑफिस लौटे थे. वर्कइनसिंक के आंकड़ों से इसका पता चलता है. यह कंपनियों को टेक सॉल्‍यूशन उपलब्‍ध कराती है. बेंगलुरु और हैदराबाद में यह आंकड़ा 5 फीसदी से भी कम है. वहीं, मुंबई और दिल्‍ली-एनसीआर में यह संख्‍या 20 फीसदी से ज्‍यादा है.

फार्मा, आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर के कर्मचारी अधिक रफ्तार से ऑफिस लौट रहे हैं. इनमें यह रेट 16 फीसदी से 27 फीसदी तक है. वहीं, शुद्ध सॉफ्टवेयर प्रोडक्‍ट कंपनियों में यह रेट सिर्फ 3 फीसदी है. इंफोसिस, विप्रो और टीसीएस जैसी कंपनियों में कुल कर्मचारियों में से केवल 5 फीसदी ऑफिस से काम कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : क्‍या आप एमबीए करना चाहते हैं? ये 6 बातें करेंगी आपकी मदद

master

महानगरों में यह आंकड़ा 10 फीसदी है. वहीं, बाकी के देश में 20 फीसदी. आंकड़ों से यह भी पता चलता है कि पुरुषों के मुकाबले महिला कर्मचारी ऑफिस लौटने में अधिक तत्‍पर हैं.

इसे भी पढ़ें : कार खरीदने के लिए आसानी से मिलेगा लोन, मारुति सुजुकी ने शुरू की यह नई सुविधा

वर्कइनसिंक के सीईओ दीपेश अग्रवाल ने कहा कि अगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है. वहीं, सितंबर तक इसके 80 फीसदी तक पहुंचने के आसार हैं. सब कुछ काेराेना की वैक्‍सीन आने पर निर्भर करेगा.

उन्‍होंने कहा कि अनलॉक के दूसरे चरण से कर्मचारियों ने ऑफिस लौटना शुरू किया है. लेकिन, जिस तरह से उनकी वापसी हुई है, वह पहले की तुलना में काफी अलग है. अगले कुछ महीनों में ज्‍यादा कर्मचारी ऑफिस से काम करेंगे.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

ऑफिस वापसीवर्कइनसिंकबेंगलुरुर‍िपोर्टकोरोना वैक्‍सीनहैदराबाद

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read

ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.टीसीएस ने छह महीनों में दूसरी बढ़ाई सैलरी, जानिए क्या है वजह?

बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.समय गुजरने के साथ उन्‍हें इक्विटी में निवेश कम कर देना चाहिए. इसके बजाय धीरे-धीरे डेट फंडों की ओर रुख करना चाहिए.सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट

विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता हैमहामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.मुझे महीने में 40,000 रुपये म्‍यूचुअल फंडों में निवेश करना है, किन स्‍कीमों में लगाऊं?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
lovebet 6 फोल्ड

डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.

स्पोर्ट्सबुक सट्टेबाजी

दिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान ग्रोथ देने के चलते साल 2021-22 के लिए कर्मचारियों की सैरली बढ़ाई है.

lovebet 500 फ्री बेट

बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.

बेताब मूवी सनी देओल

महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.

भारत में पोकर टूर्नामेंट

चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी