बैकारेट साइट

बैकारेट साइट

time:2021-10-21 23:45:26 कमजोर मांग से सोयाबीन वायदा कीमतों में गिरावट Views:4591

बैकारेट पर बेट लगाने का सबसे अच्छा तरीका क्या है? मुझे कहां पता चल सकता है? बैकारेट साइट 10cric राजस्व,casumo फ्री प्ले,लियोवेगास रॉकेट x,lovebet सीईओ,lovebet नो डिपॉजिट,lovebet जाम्बिया,क्या कैसीनो बीसी . में खुले हैं?,बैकरेट फोरम ब्लॉग,बैकारेट बर्तन धारक,बेटिंग क्या है,कैसीनो एवेन्यू अपोलो बे,कैसीनो यूएसए ऑनलाइन,क्लासिक रम्मी नियम,क्रिकेट खा,ई स्पोर्ट्स टीम,यूरोपीय सुपर कप,फुटबॉल ऑड्स एनालिसिस नेटवर्क,उत्पत्ति कैसीनो फिलीपींस,Baccarat में कितने तरीके होते हैं?,आईपीएल मैच सूची,जैकपॉट अल्ट्रा,लाइव ब्लैकजैक स्पीलें,लॉटरी 04 मई 2021,लॉटरी यूट्यूब,एनबीए सट्टेबाजी आधिकारिक वेबसाइट,बोनस के साथ ऑनलाइन कैसीनो,ऑनलाइन पोकर केंटकी,पैरिमैच हेल्प,पोकर मैं सब में हूँ,असली और नकली ऑनलाइन जुआ खेल,वर्तमान अनिश्चित काल के लिए नियम,रमी वेरिएंट के बोल,स्लॉट मशीन जावास्क्रिप्ट,खेल 610,स्पोर्ट्सबुक जॉब कनाडा,टेक्सास होल्डम लंगड़ा,विश्व में शीर्ष दस गेमिंग नेटवर्क,बैकारेट कितने प्रकार के होते हैं,एक्स-लवबेट,उम्मीद स्टेटस इन हिंदी,क्रिकेट bat price,गोवा घूमने का खर्च,डीडी स्पोर्ट्स डाउनलोड,फुटबॉल स्किल्स,बेटा वाला,लॉटरी नंबर आज का, .कमजोर मांग से सोयाबीन वायदा कीमतों में गिरावट

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) हाजिर बाजार की कमजोर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने सौदों की कटान की जिससे वायदा कारोबार में बृहस्पतिवार को सोयाबीन की कीमत 17 रुपये की गिरावट के साथ 5,326 रुपये प्रति क्विन्टल रह गई।

एनसीडीईएक्स में सोयाबीन के नवंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 17 रुपये अथवा 0.32 प्रतिशत की गिरावट के साथ 5,326 रुपये प्रति क्विन्टल रह गई जिसमें 86,600 लॉट के लिए कारोबार हुआ।

बाजार सूत्रों ने कहा कि वायदा कारोबार में सोयाबीन वायदा कीमतों में गिरावट का मुख्य कारण कारोबारियों द्वारा अपने सौदों की कटान करना था।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read
Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने बृहस्पतिवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था के चालू वित्त वर्ष में 10.5 प्रतिशत या उससे अधिक वृद्धि दर हासिल करने की उम्मीद है। उन्होंने पीएएफआई इंडिया के सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कहा कि खुदरा क्षेत्र के आधुनिकीकरण पर खास जोर है। कुमार ने कहा, ‘‘विनिर्माण और सेवाओं, दोनों के लिए भारत खरीद प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) में पिछले महीने काफी तेजी आई है। इससे (भारतीय अर्थव्यवस्था में) और भी मजबूती आएगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2021-22 में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 10.5 प्रतिशतनयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने बृहस्पतिवार को कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था के चालू वित्त वर्ष में 10.5 प्रतिशत या उससे अधिक वृद्धि दर हासिल करने की उम्मीद है। उन्होंने पीएएफआई इंडिया के सम्मेलन में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कहा कि खुदरा क्षेत्र के आधुनिकीकरण पर खास जोर है। कुमार ने कहा, ‘‘विनिर्माण और सेवाओं, दोनों के लिए भारत खरीद प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) में पिछले महीने काफी तेजी आई है। इससे (भारतीय अर्थव्यवस्था में) और भी मजबूती आएगी।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि वित्त वर्ष 2021-22 में भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 10.5 प्रतिशतDefinition Of Super Cool: हर्ष गोयनका का ये ट्वीट पेट पकड़कर हंसने को मजबूर कर देगा, एक यूजर को तो याद आ गया 'CID वाला दया!'

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) हाजिर मांग कमजोर होने के बीच सटोरियों द्वारा अपने सौदों का आकार घटाने से वायदा कारोबार में बृहस्पतिवार को रिफाइंड सोया तेल की कीमत 10.90 रुपये की हानि के साथ 1,270 रुपये प्रति 10 किग्रा रह गई। एनसीडीईएक्स में रिफाइंड सोया तेल के नवंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 10.90 रुपये अथवा 0.85 प्रतिशत की हानि के साथ 1,270 रुपये प्रति 10 किग्रा रह गई जिसमें 26,795 लॉट के लिए कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि पर्याप्त स्टॉक के मुकाबले कारोबारियों द्वारा अपने सौदों कानयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) हाजिर मांग कमजोर होने के बीच सटोरियों द्वारा अपने सौदों का आकार घटाने से वायदा कारोबार में बृहस्पतिवार को रिफाइंड सोया तेल की कीमत 10.90 रुपये की हानि के साथ 1,270 रुपये प्रति 10 किग्रा रह गई। एनसीडीईएक्स में रिफाइंड सोया तेल के नवंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 10.90 रुपये अथवा 0.85 प्रतिशत की हानि के साथ 1,270 रुपये प्रति 10 किग्रा रह गई जिसमें 26,795 लॉट के लिए कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि पर्याप्त स्टॉक के मुकाबले कारोबारियों द्वारा अपने सौदों काइंटेल अनुसंधान अवसंरचना को बढ़ावा देने के लिए 100 डेटा-केंद्रित प्रयोगशाला स्थापित करेगी

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) हाजिर बाजार की कमजोर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने सौदों की कटान की जिससे वायदा कारोबार में बृहस्पतिवार को सोयाबीन की कीमत 17 रुपये की गिरावट के साथ 5,326 रुपये प्रति क्विन्टल रह गई। एनसीडीईएक्स में सोयाबीन के नवंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 17 रुपये अथवा 0.32 प्रतिशत की गिरावट के साथ 5,326 रुपये प्रति क्विन्टल रह गई जिसमें 86,600 लॉट के लिए कारोबार हुआ। बाजार सूत्रों ने कहा कि वायदा कारोबार में सोयाबीन वायदा कीमतोंनयी दिल्ली, 21 सितंबर (भाषा) हाजिर बाजार में मांग बढ़ने के कारण सटोरियों ने अपने सौदों के आकार को बढ़ाया जिससे वायदा कारोबार में बृहस्पतिवार को ग्वारगम की कीमत 399 रुपये की तेजी के साथ 11,822 रुपये प्रति पांच क्विन्टल हो गई। एनसीडीईएक्स में ग्वारगम के नवंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 399 रुपये अथवा 3.49 प्रतिशत की तेजी के साथ 11,822 रुपये प्रति पांच क्विन्टल हो गई जिसमें 48,250 लॉट के लिए कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि हाजिर बाजार में मजबूतीउद्योग जगत ने 100 करोड़ कोविड टीके लगाए जाने की उपलब्धि पर खुशी जतायी

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
क्रिकेट शब्दावली

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) इलेक्ट्रॉनिक चिप बनाने वाली कंपनी इंटेल ने देश में अनुसंधान अवसंरचना को बढ़ावा देने के लिए अगले एक साल में डेटा केंद्रित प्रयोगशालाएं स्थापित करने को लेकर 100 विश्वविद्यालयों और इंजीनियरिंग संस्थानों के साथ साझेदारी की योजना बनायी है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी। प्रयोगशाला को इंटेल के उन्नति कार्यक्रम के तहत स्थापित किया जाएगा। इसका उद्देश्य सभी स्तरों पर शैक्षणिक संस्थानों के लिए प्रौद्योगिकी अवसंरचना तक पहुंच को व्यापक बनाना है।

लियोवेगैस ऐप

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) हाजिर मांग कमजोर होने के बीच सटोरियों द्वारा अपने सौदों का आकार घटाने से वायदा कारोबार में बृहस्पतिवार को रिफाइंड सोया तेल की कीमत 10.90 रुपये की हानि के साथ 1,270 रुपये प्रति 10 किग्रा रह गई। एनसीडीईएक्स में रिफाइंड सोया तेल के नवंबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 10.90 रुपये अथवा 0.85 प्रतिशत की हानि के साथ 1,270 रुपये प्रति 10 किग्रा रह गई जिसमें 26,795 लॉट के लिए कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि पर्याप्त स्टॉक के मुकाबले कारोबारियों द्वारा अपने सौदों का

कैसीनो या लक्ज़मबर्ग

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) नीति आयोग के अटल नवोन्मेष मिशन (एआईएम) ने बृहस्पतिवार को विभिन्न क्षेत्रों में एआईएम के स्टार्ट-अप की सफलता की कहानियों को प्रदर्शित करने के लिए पुस्तक, 'इनोवेशन फॉर यू' का लोकार्पण किया। यह पुस्तक डिजिटल रूप में है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, एआईएम की पुस्तक का पहला संस्करण स्वास्थ्य देखभाल में नवाचारों पर केंद्रित है और जल्द ही अन्य क्षेत्रों में भी इसके नवाचारों पर आधारित किताबें आएंगी। बयान में आगे कहा गया है कि यह पुस्तक देश

पोकर एन लिग्ने

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) नीति आयोग के अटल नवोन्मेष मिशन (एआईएम) ने बृहस्पतिवार को विभिन्न क्षेत्रों में एआईएम के स्टार्ट-अप की सफलता की कहानियों को प्रदर्शित करने के लिए पुस्तक, 'इनोवेशन फॉर यू' का लोकार्पण किया। यह पुस्तक डिजिटल रूप में है। एक आधिकारिक बयान के अनुसार, एआईएम की पुस्तक का पहला संस्करण स्वास्थ्य देखभाल में नवाचारों पर केंद्रित है और जल्द ही अन्य क्षेत्रों में भी इसके नवाचारों पर आधारित किताबें आएंगी। बयान में आगे कहा गया है कि यह पुस्तक देश

बैकारेट governor

मुंबई, 21 अक्टूबर (भाषा) रेटिंग एजेंसी इक्रा ने कहा है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में जीएसटी संग्रह, बिजली खपत और ई-वे बिल समेत 15 उच्च आवृत्ति संकेतकों में आधे में महामारी से पहले के स्तर से सुधार देखने को मिल रहा है। ऐसे में अर्थव्यवस्था महामारी के प्रकोप से बाहर निकलती हुई दिख रही है, तथा दूसरी तिमाही में जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) 7.7 प्रतिशत की दर से बढ़ सकती है। एजेंसी ने अपनी रिपोर्ट में हालांकि कहा कि सितंबर के आंकड़े उतने अच्छे नहीं है, जिससे पता चलता है कि सुधार अभी भी असमान

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी