राज्य द्वारा स्लॉट मशीन कानून

राज्य द्वारा स्लॉट मशीन कानून

time:2021-10-21 22:22:27 फ्रैंकलिन टेम्पलटन के निवेशकों को इस हफ्ते मिलेंगे 2,962 करोड़ रुपये Views:4591

पारिमैच पुराना संस्करण राज्य द्वारा स्लॉट मशीन कानून 188bet एक्सओ सो,fun88 इंग्लैंड,lovebet 30 मुफ्त शर्त,lovebet जीमेल,lovebet सो १ चाउ आ,lovebetप्रोमो कोड,बैकारेट 8 क्रिस्टल बाउल,बैकारेट सदस्य खाता खोलना,बेस्ट फाइव क्वार्ट स्टैंड मिक्सर,बॉन्स गॉलवे,कैसीनो मैं यूरोपा,शतरंज 4.2.3 मॉड एपीके,मेरे पास क्रिकेट अकादमी,क्रिकेट अपडेट खबर,एस्पोर्ट्स रूम,फुटबॉल एक ला टीवी,मुफ्त बैकारेट विश्लेषण सॉफ्टवेयर,किसान के लिए जन्मदिन मुबारक हो,बैकारेट में कार्ड कैसे रिकॉर्ड करें,क्या ऑनलाइन जुए के पैसे के लिए कोई Sic Bo गेम है?,का क्रिकेट मैच,लाइव कैसीनो रूले मुक्त,लॉटरी हिंदी,लूडो रेफरल कोड,ऑनलाइन बैकारेट सुरक्षित है,फ्री फायर की तरह ऑनलाइन गेम,ऑनलाइन स्लॉट डाउनलोड,बैकरेट ऑनलाइन खेलना अवैध है,पोकर यू डीवोजे,रूले हैक सॉफ्टवेयर,रम्मी 666 एपीके डाउनलोड,रम्मीकल्चर रियल कैश गेम,स्लॉट 88,भारत में खेल नौकरियां,टा स्पोर्ट्स डम्बल,सबसे पुरानी मिलियन कलर गैलरी,वीए कैसीनो,ऑनलाइन मनोरंजन के लिए कौन सा प्लेटफॉर्म बेहतर है,cricket खेळाची माहिती,ओम लॉटरी,क्रिकेट ताजा,चेस खेळाची माहिती मराठी,त्रिभुज क्रिकेट मैच,बरसात घमड़की देजा,रमी ऐप्स,स्टेटस चुराने वाला ऐप, .फ्रैंकलिन टेम्पलटन के निवेशकों को इस हफ्ते मिलेंगे 2,962 करोड़ रुपये

इससे पहले फंड हाउस ने फरवरी में निवेशकों को 9,122 करोड़ रुपये का भुगतान किया था. सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार, यह भुगतान एसबीआई म्यूचुअल फंड के जरिए किया जाएगा.
फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की बंद हो चुकी स्कीमों के निवेशकों को इस हफ्ते पैसे मिल जाएंगे. कंपनी ने यह जानकारी दी है. कंपनी ने कहा है कि बंद छह स्कीमों के निवेशकों को 2,962 करोड़ रुपये इस हफ्ते मिल जाएंगे.

इससे पहले फंड हाउस ने फरवरी में निवेशकों को 9,122 करोड़ रुपये का भुगतान किया था. सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार, यह भुगतान एसबीआई म्यूचुअल फंड के जरिए किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें: वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

फ्रैंकलिन के प्रवक्ता ने कहा, "फरवरी 2021 में पांच स्कीमों के निवेशकों को 9,122 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया. हमें यह बताने में काफी खुशी हो रही है कि एसबीआई म्यूचुअल फंड 2,962 करोड़ रुपये की अगली किस्त जारी कर रही है. यह रकम सभी छह स्कीमों के निवेशकों को मिलेगी."

उन्होंने कहा, "केवायसी पूरा कर चुके ग्राहकों को 12 अप्रैल को शुरू हो रहे सप्ताह में भुगतान कर दिया जाएगा." फंड हाउस ने जानकारी दी कि ग्राहकों को ऑनलाइन भुगतान के तहत पैसा दिया जाएगा. इसके अलावा, यदि ग्राहकों ने ऑनलाइन भुगतान का चयन नहीं किया है, तो उन्हें चेक या डिमांड ड्राफ्ट द्वारा पैसा दिया जाएगा.

निवेशकों को ध्यान देना होगा कि जिन यूनिटधारकों का पैन/केवायसी, अभिभावक के आधीन कनिष्ठ और ट्रांसमिशन की जानकारी या दस्तावेज उपलब्ध नहीं हो पाएं है या अमान्य हैं, उन्हें नियामक अनुपालनों को पूरा करने के बाद ही भुगतान किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें: किसे सता रहा अमेरिका में महंगाई बढ़ने का डर?

इसमें फ्रैंकलिन अल्ट्रा शॉर्ट बॉन्ड की 28.42 फीसदी, फ्रैंकलिन इंडिया लो ड्यूरेशन फंड की 14.18 फीसदी, फ्रैंकलिन शॉर्ट टर्म इनकम फंड की 13.37 फीसदी, फ्रैंकलिन इंडिया इनकम ऑपर्च्युनिटीज फंड की 6.67 फीसदी, फ्रैंकल इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड की 11.22 फीसदी और फ्रैंकलिन इंडिया डायनेमिक अक्रूअल फंड की 11.23 फीसदी हिस्सेदारी है.

इस पत्र के अनुसार, भुगतान की जाने वाली राशि का आंकलन नीचे दी गई टेबल के आार पर होगा और सभी यूनिट को समाप्त करने के एवज में फंडों का भुगतान किया जाएगा. ग्राहकों को टीडीएस काटकर पैसा दिया जाएगा.

franklin-11.





हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

सेबीशेयर बाजारम्यूचुअल फंडएसबीआई म्यूचुअल फंडफ्रैंकलिन टेम्पलटन इंडियाफ्रैंकलिन टेम्पलटनसुप्रीम कोर्ट

ETPrime stories of the day

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read

एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.पहले चरण में 31,277 को जिलों का आवंटन हो गया है. इसमें से 15,933 टीचर सामान्‍य कैटेगरी के हैं. 8,513 अन्‍य पिछड़ा वर्ग, 6,615 अनुसूचित जाति और 215 अनुसूचित जनजाति के हैं.पेटीएम बिजनेस के विस्तार के लिए 1,000 लोगों की भर्ती करेगी

ब्‍याज दरों में कटौती का फैसला वापस होने के बाद एक सामान्‍य धारणा बनी. वह यह थी कि चुनावों को देखते हुए यह फैसला लिया गया.एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.कोविड से पहले के स्‍तर पर पहुंची कंपनियों में भर्ती : सर्वे

सैलरी कब अपने स्‍तर पर लौटेंगी, यह आर्थिक गतिविधियों के बहाल होने पर निर्भर करेगा. डेलॉयट के सर्वे में शामिल 75 फीसदी संस्‍थानों ने मौजूदा अनिश्चितता को देखते हुए वेतनवृद्धि में किसी तरह के अनुमान जाहिर करने से इंकार कर दिया.सितंबर में समाप्त तिमाही में कंपनी के कर्मचारियों की संख्या 2,40,208 थी. कंपनी अपने जूनियर कर्मचारियों को तीसरी तिमाही में एकबारगी विशेष प्रोत्साहन देगी.वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
तीन पत्ती राजा APK

जून में गिरावट के बाद पिछले दो महीनों में एक्टिव जॉब ओपनिंग्‍स में 74 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है. कंपनियों को कोविड की महामारी खत्‍म होने के बाद प्रतिस्‍पर्धा बढ़ने की उम्‍मीद है. वे इसके लिए खुद को तैयार रखना चाहती हैं.

फुटबॉल एजेंट

नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.

मेरी रम्मी 999

नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.

कैसीनो में सुंदरता

कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू किए गए लॉकडाउन के कारण विभिन्न क्षेत्रों में छंटनी, वेतन में कटौती या कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी रुक गई है. हालांकि, कई बड़े निजी क्षेत्र के बैंकों ने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की है.

ऑनलाइन पैसे बनाएं app

पेटीएम के सीएचआरओ रोहित ठाकुर ने ईटी को बताया कि पिछले तीन से चार महीनों में कंपनी ने करीब 700 लोगों की भर्ती की है. इन्‍हें ऑनलाइन रिक्रूट किया गया है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी