भ स्पोर्ट्सकी टिप्पणी

Publishing time:2021-10-25 17:50:46

बैकारेट निकासी के लिए सबसे तेज़ वेबसाइट भ स्पोर्ट्सकी टिप्पणी 188bet खो,casumo यूके लॉगिन,lovebet 11,lovebet एस्पोर्ट्स,lovebet क्विक्सास,lovebet-आ,बैकारेट 007,बैकारेट पंप नहीं है,बैकारेट के लिखने का तरीका,बेटिंग व्हाट्सएप ग्रुप लिंक,कैसीनो ड्राइव ब्रॉडबीच,टेक्सास में कैसीनो,क्रिकबज,क्रिकेट उद्धरण अंग्रेजी में,एस्पोर्ट्स हेडफोन ए1,फिशिंग रशफोर्ड लेक एनवाई,फुटबॉल टी-शर्ट ऑनलाइन दुकान,ग्लोबल रियल मनी ड्रैगन टाइगर,कैसे खोलें,आईपीएल जोमैटो,जंगल रम्मी मुफ्त डाउनलोड,गोवा में लाइव कैसीनो,लॉटरी बीसी,लूडो आईडी,o फुटबॉल की भविष्यवाणी आज और आज रात,ऑनलाइन गेम बोर्ड मेकर,ऑनलाइन पोकर एक्सबॉक्स,परिमच यूके रिव्यू,पोकर ऑनलाइन qq ceme,री कैसीनो टिवर्टन,नियम शून्य उत्पाद,रम्मीकल्चर नकली,स्लॉट मशीन विकिपीडिया,स्पोर्ट्स दा रोडडा,स्पोर्ट्सबुक्स,टेक्सस होल्डम यूडा गेम्स,यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल गोल्डन बूट्स क्रिस्टियानो रोनाल्डो,किस सट्टेबाज को छूट है,21 बजे dj,ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए video,क्रिकेट इमेज,गोवा भाषा,तीन पत्ती प्रो,बकरी ऑनलाइन,बैकारेट quotes,स्टेटस अच्छा वाला, .कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

सैलरी बढ़ाने के लिए बातचीत करना यूं भी आसान नहीं होता है. मौजूदा स्थितियों में तो यह काम और भी मुश्किल हो गया है.
सैलरी बढ़ाने के लिए बातचीत करना यूं भी आसान नहीं होता है. फिर चाहे आप अपनी कंपनी में मौजूदा बॉस से चर्चा कर रहे हों या फिर नई जॉब ऑफर के लिए वहां के प्रबंधन से. इस दौरान तनाव रहता ही है. मौजूदा स्थितियों में जब कोरोना की महामारी के कारण काफी लोगों को सैलरी में कटौती और नौकरी गंवाने तक का सामना करना पड़ा है तो यह काम और भी मुश्किल हो गया है. आपको अगर इन स्थितियों का सामना नहीं करना पड़ा है. लेकिन, अपनी मौजूदा सैलरी में बढ़ोतरी या ज्‍यादा पैसे वाली नौकरी चाहते हैं, तो यह संभव है. इसके लिए आपको कुछ चीजें करनी होंगी. आइए, यहां उनके बारे में जानते हैं.

डेटा रखें तैयार
सबसे पहले आपको पूरे साल के दौरान किए गए कॉन्ट्रिब्‍यूशन को लिख लेना चाहिए. ये कॉन्ट्रिब्‍यूशन आपके कार्यक्षेत्र के अनुसार हो सकते हैं. मसलन, आपने सेल्‍स टारगेट पूरे किए हों, महत्‍वपूर्ण प्रोजेक्‍ट सफलता से निपटाया हो, अतिरिक्‍त जिम्‍मेदारी ली हो या कंपनी की कॉस्‍ट में अंतर पैदा किया हो इत्‍यादि. यह आपको सैलरी बढ़ाने के लिए अपना पक्ष रखने में मदद करेगा. आप बॉस के सामने साल का पूरा ब्‍योरा रख पाएंगे. इस तरह उनका फैसला हाल की घटनाओं पर निर्भर नहीं करेगा.

इसे भी पढ़ें : सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट

मार्केट में अपनी वैल्‍यू जान लें
आपको अपनी स्किल्‍स का पैसा मिलता है. इस बात का पता करें कि आप जैसी स्किल रखने वाले लोगों को बाहर कितनी सैलरी मिल रही है. आपके अनुभव और स्किल्‍स से जुड़ी कितनी जॉब हैं. रिक्रूटमेंट कंसल्‍टेंट क्‍या आपको कॉल करते हैं और वे कितनी सैलरी ऑफर करते हैं.

कंपनी की जरूरत जानें
कोरोना के दौर में कंपनी की जरूरतों में बदलाव हुआ है. मुमकिन है कि जिस काम में आप बहुत अच्‍छे हों, उसमें कंपनी को लोगों की बहुत जरूरत न हो या उसमें काम घटा हो. देख लें कि आप कोर टीम का हिस्‍सा हैं या आपके बगैर ऑपरेशन चल सकते हैं.

तनाव कम करें
सैलरी पर बातचीत की जरूरत अमूमन साल में एक बार या फिर नौकरी बदलते वक्‍त पड़ती है. इस दौरान अगर आप तनाव में नहीं आते हैं तो अच्‍छा है. पर, ऐसा होता है तो अभ्‍यास जरूरी है. इसके लिए दोस्‍तों या परिवार के सदस्‍यों की मदद ले सकते हैं. अपने काम और जो सैलरी चाहते हैं, उस पर जब आप बार-बार बात करेंगे तो वास्‍तविक स्थिति आने पर तनाव कम रहेगा.

इसे भी पढ़ें : क्‍या आप एमबीए करना चाहते हैं? ये 6 बातें करेंगी आपकी मदद

सही समय चुनें
सैलरी बढ़ाने के लिए बॉस से बात करने का समय बेहद अहमियत रखता है. उस दिन ऐसी बात करना ठीक नहीं होगा जिस दिन उन्‍होंने लागत घटाने के लिए कुछ लोगों को बाहर किया हो या किसी प्रोजेक्‍ट को पूरा करने की डेडलाइन पास हो. अच्‍छा होगा कि ऐसी बातचीत टेलीफोन कॉल के बजाय आमने-सामने हो.

कमीशन और बोनस हैं ऑप्‍शन
सिर्फ वेतनवृद्धि विकल्‍प नहीं है. आप जितनी बढ़ोतरी चाहते हों, शायद कोई कंपनी उसका दोगुना देने के लिए तैयार हो सकती है. लेकिन, वह ईसॉप्‍स, बोनस या कमीशन के रूप में हो. उस स्थिति में पूछ लेना चाहिए कि ये कैसे काम करेंगे और इनका फायदा आप कैसे उठा पाएंगे.

पैसे के अलावा यह है विकल्‍प
अगर वेतन में बढ़ोतरी संभव नहीं है तो आप ऐसे दूसरे बेनिफिट देने के लिए कह सकते हैं जो आपके लिए मायने रखते हैं. इन पर कंपनी और आपकी सहमति होनी चाहिए. मसलन, आप बच्‍चे को स्‍कूल छोड़ने के लिए ऑफिस टाइमिंग को आधे घंटे शिफ्ट कराना चाहते हों. कोई अलग भूमिका चाहते हों या नए प्रोजेक्‍ट पर काम करने के इच्‍छुक हों.

(लेखक कर‍ियर कोच और मेंटर हैं.)

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.
(Disclaimer: The opinions expressed in this column are that of the writer. The facts and opinions expressed here do not reflect the views of www.economictimes.com.)

टॉपिक

सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीतकॉन्ट्रिब्‍यूशनडेटा रखें तैयारकाेराेना की महामारीवेतनवृद्धिरिक्रूटमेंट कंसल्‍टेंट

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

अगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है.फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.इन तरीकों से आप घर बैठे कमा सकते हैं पैसा

डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.भारतीय शहरों में करीब 15 फीसदी कंपनियों की फरवरी से अप्रैल 2021 के बीच फ्रेशर्स को भर्ती करने की योजना है. लर्निंग सॉल्‍यूशंस फर्म टीम लीज एडटेक के सर्वे से इसका पता चलता है. टीमलीज एडटेक के सीईओ शांतनु रूज ने कहा कि कोरोना की महामारी के बावजूद कंपनियों के एजेंडे में फ्रेशर्स की हायरिंग है.सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट

साल में कम से कम एक बार निवेश की समीक्षा जरूर करें और उसे दोबारा बैलेंस करें.महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


स्टेटस अच्छे-अच्छे
क्रिकेट essay in hindi
ऑनलाइन गेम्स फॉर बॉयज
casumo अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न
lovebet ओ snai
बेटा एक नंबरी बाप
रम्मीकल्चर मॉड apk
बैकारेट वाइन ग्लास
जैकपॉट डाउनलोड
ऑनलाइन पोकर या लाइव
रम्मी नियम pdf
जैकपॉट योद्धा
नवीनतम सट्टेबाजी युक्तियाँ
गोल्डन लॉटरी बाजार
शर्त लगाना
ऑनलाइन बैकरेट टिप्स
किशोर पत्ती पार्टी APK
फ़ुटबॉल 6 जुलाई 2021
क्रिकेट दस्ताने
lovebet बॉक्सिंग
उम्मीद स्टेटस इन हिंदी
विश्व कप फुटबॉल लॉटरी मैच तालिका
बेटिंग ऑड्स की गणना कैसे की जाती है
कॉम पोकर स्टार
खुश किसान वायलिन धीमा
रम्मी 9 से 1 . का भुगतान करता है
आभासी डार्ट्स क्रिकेट