जैकपॉट नंबर परिणाम

जैकपॉट नंबर परिणाम

time:2021-10-25 17:50:05 ओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक? Views:4591

शीर्ष दस फुटबॉल सट्टेबाजी कंपनियां जैकपॉट नंबर परिणाम betway घी,fun88 समीक्षा,lovebet 5 फ्री स्पिन,lovebet हिंदी में,lovebet थाईलैंड,3 रील स्लॉट असली पैसा,बैकारेट अंकगणित,बैकरेट पैक जीतने का कौशल,बेस्ट ऑफ फाइव गेम APK,सट्टेबाज की जीत,कैसीनो लाइव,शतरंज बॉट x,क्रिकेट किताब का नाम,क्रिकेट यॉर्कशायर,यूरोपीय कप सट्टेबाजी केंद्र,फुटबॉल सट्टेबाजी मंच,जी स्पोर्ट्स वॉच,खुश किसान जेनिफर,मैं पोकर रूम,जैकेट वाला लड़का,ला लवबेट एमिगो,लाइव डीलर लाठी nj,लॉटरी भूमि,एम कैसीनो लास वेगास,ऑनलाइन कैसीनो ऐप,पैसे कमाने के लिए ऑनलाइन गेम,ऑनलाइन स्लॉट माल्टा,पोकर 12345 या 23456,पोकर कार्यपुस्तिका,रूले नंबर अनुक्रम,रम्मी ड्रैगन बनाम टाइगर,रश ओमान फिशिंग इंस्टाग्राम,स्लॉट हॉट वेगास,स्पोर्ट्स पैरी साउंड,तीन पत्ती गोल्ड मोड APK,नवीनतम फुटबॉल रेफरी नियम,आभासी क्रिकेट फुलहम,वाइल्डज़ मुफ्त कैसीनो,lottery वरदान या शाप,करीना भजन,क्रिकेट शायरी हिंदी आईपीएल,ज लॉटरी,पासा के प्रकार,बरसात राजस्थान,रमी वीडियो गेम,स्टेटस न्यू सॉन्ग, .ओएनजीसी के शेयरों में क्‍यों निवेश की सलाह दे रहे हैं विश्लेषक?

31 में से 23 विश्लेषक इस शेयर में खरीद की सलाह दे रहे हैं. 4 का कहना है कि इसे होल्ड करना चाहिए.
अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल (क्रूड) की कीमत मजबूत हुई है. इसके साथ ही ओएनजीसी में विश्लेषकों की दिलचस्पी भी कई गुना बढ़ गई है. अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में कंपनी का औसत रियलाइजेशन (प्राप्ति) 43 डॉलर प्रति बैरल रहा. लिहाजा, हाल में कच्चे तेल की कीमतों में उछाल से ओएनजीसी को फायदा हो सकता है. मध्यम अवधि में क्रूड की कीमत 50 डॉलर से 70 डॉलर प्रति बैरल के बीच स्‍टेबल रह सकती है. तेल निर्यात करने वाले देशों के संगठन ओपेक के हस्तक्षेप से ऐसा हो सकता है. पिछली बैठक में सऊदी अरब ने खुद से उत्पादन में रोजाना 10 लाख बैरल की कमी जारी रखने पर सहमति जताई थी. दूसरे देशों ने भी उत्‍पादन नहीं बढ़ाने पर हामी भरी थी.

पिछले 10 साल में ओएनजीसी अपने उत्पादन में कोई बड़ी बढ़ोतरी करने में नाकामयाब रही है. निवेशकों की चिंता का यह बड़ा विषय था. हालांकि, विश्लेषक कहते हैं कि ओएनजीसी प्रोडक्‍शन के स्‍तर को कायम रखने में सफल रही है. जबकि दूसरी अपस्ट्रीम ऑयल कंपनियां ऐसा नहीं कर सकीं. यही कारण है कि ओएनजीसी की कुल प्रोडक्‍शन में हिस्सेदारी पिछले 10 साल में 53 फीसदी से बढ़कर 70 फीसदी हो गई.

इसे भी पढ़ें : नई व्हीकल स्क्रैपेज पॉलिसी का आपके लिए क्‍या है मतलब?

ओएनजीसी का क्रूड ऑयल प्रोडक्‍शन स्थिर बने रहने के आसार हैं. 2022-23 तक ओएनजीसी की अपना घरेलू गैस उत्पादन 0.3 एमएमएससीएमडी (मिलियन मेट्रिक स्‍टैंडर्ड क्‍यूबिक मीटर्स रोजाना) बढ़ाकर 8-9 एमएमएससीएमडी कर लेने की योजना है. 2023-24 तक 15 एमएमएससीएमडी तक पहुंचाने की तैयारी है.

मोजांबिक में ओएनजीसी विदेश और ऑयल इंडिया समर्थित ऑनशोर एलएनजी डेवलपमेंट की अच्छी प्रगति है. रोवुमा ऑफशोर एरिया-1 प्रोजेक्ट ने हाल में पहला चरण पूरा कर लिया है. वह प्रोजेक्ट के लिए अपने कर्जदारों से पैसा पाने के लिए तैयार है.

इसे भी पढ़ें : सुकन्‍या समृद्धि योजना के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

ऑयल और गैस सेक्टर की कंपनियों के लिए सरकार का हस्तक्षेप मुख्य चुनौती रही है. पेट्रोलियम प्रोडक्‍टों को जीएसटी व्यवस्था में शामिल करने की मांग बढ़ रही है. वैसे, पेट्रोल और डीजल पर जीएसटी लागू होने की संभावना अभी कम है. विश्लेषकों को उम्मीद है कि सरकार आने वाले वर्षों में घरेलू प्राकृतिक गैस के मूल्य में मौजूद विसंगति को दूर करेगी. इसके चलते घरेलू उत्‍पादन को नुकसान होता है. इसके बाद ओएनजीसी को उसकी घरेलू प्राकृतिक गैस के लिए अच्‍छी दरें प्राप्‍त होंगी.

ओएनजीसी अभी उचित वैल्यूएशन पर कारोबार कर रही है. विश्लेषकों का इस शेयर में आकर्षण बढ़ने का यह भी एक कारण है. इसकी कमाई में बड़ी बढ़ोतरी होने की उम्मीद है. 31 में से 23 विश्लेषक इस शेयर में खरीद की सलाह दे रहे हैं. 4 का कहना है कि इसे होल्ड करना चाहिए. 4 ने ही इसमें बिक्री की राय दी है.

master6

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

ONGC share priceओएनजीसी शेयर प्राइसन‍िवेश की सलाहउत्‍पादनक्रूडविश्‍लेषकों की रायओएनजीसी

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read

दिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान ग्रोथ देने के चलते साल 2021-22 के लिए कर्मचारियों की सैरली बढ़ाई है.पिछले साल से अब तक बड़े उतार-चढ़ाव हुए हैं. लोगों ने कोरोना की महामारी के कहर को देखा और अब जिंदगी को पटरी पर लौटते देख रहे हैं. शायद ही यह दौर भुलाए भूलेगा. हालांकि, इससे कई सबक भी मिले हैं. ये करियर में आगे बढ़ने में मदद कर सकते हैं. आइए, यहां उनके बारे में जानते हैं.क्‍या आपको फंड ऑफ फंड्स में निवेश करना चाहिए?

रोजगार संबंधी सेवाएं देने वाली वेबसाइट नौकरी डॉट कॉम के 'हायरिंग आउटलुक सर्वे' के अनुसार, नियोक्ता नए साल को लेकर आशावान लग रहे हैं.नौकरी जॉबस्पीक्स इंडेक्स की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, डिजिटल बदलाव की लहर में सूचना प्रौद्योगिकी-सॉफ्टवेयर क्षेत्र लगातार इससे बचा हुआ है.नेशनल रिटेल पॉलिसी से 4 साल में पैदा होंगी 30 लाख नौकरियां : सीआईआई

फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.कोरोना की महामारी के चलते कई लोगों की नौकरी छूट गई है. कई लोगों की सैलरी घट गई है. कइयों के रोजगार ठप हो गए हैं. नौकरियों के मौकों में बड़ी कमी आई है. नई जॉब के विकल्‍प बेहद सीमित हैं. ऐसे में यह समय अपने कम्‍फर्ट जोन से निकलकर घर में कमाई के रास्‍ते खोजने का है. इसकी शुरुआत आप खुद से यह पूछ कर सकते हैं कि आप क्‍या कर सकते हैं? कैसे कर सकते हैं? कहां कर सकते हैं? कितना कमा सकते हैं? हम आपको घर बैठे कमाई के कुछ विकल्प बता रहे हैं.कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
क्रिकेट प्रश्नोत्तरी हिंदी में

अगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है.

Baccarat की प्रमुख तकनीकें

अपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है.

एमबीए क्रिकेट

पिछले साल से अब तक बड़े उतार-चढ़ाव हुए हैं. लोगों ने कोरोना की महामारी के कहर को देखा और अब जिंदगी को पटरी पर लौटते देख रहे हैं. शायद ही यह दौर भुलाए भूलेगा. हालांकि, इससे कई सबक भी मिले हैं. ये करियर में आगे बढ़ने में मदद कर सकते हैं. आइए, यहां उनके बारे में जानते हैं.

2 शॉट्स पर lovebet

भारतीय शहरों में करीब 15 फीसदी कंपनियों की फरवरी से अप्रैल 2021 के बीच फ्रेशर्स को भर्ती करने की योजना है. लर्निंग सॉल्‍यूशंस फर्म टीम लीज एडटेक के सर्वे से इसका पता चलता है. टीमलीज एडटेक के सीईओ शांतनु रूज ने कहा कि कोरोना की महामारी के बावजूद कंपनियों के एजेंडे में फ्रेशर्स की हायरिंग है.

लूडो हैक मोड

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के विभिन्न फॉर्मेट में चुनौतियों और अड़चनों को दूर करने के लिए सीआईआई के तहत खुदरा सेक्‍टर के लोगों का मानना है कि सरकार को एक मजबूत रिटेल पॉलिसी लानी चाहिए.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी