उत्पत्ति कैसीनो ईमेल

उत्पत्ति कैसीनो ईमेल

time:2021-10-21 22:31:31 सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों, पेंशधारकों का महंगाई भत्ता तीन प्रतिशत बढ़ाया Views:4591

आर लॉटरी विजेता उत्पत्ति कैसीनो ईमेल 188bet पुनः दावा एक्वी,ek Patti खोज,lovebet 20/1,lovebet मुक्त दांव,lovebet रोलैंड गैरोस,lovebetघ संपर्क,बैकारेट 4 लीटर प्रेशर कुकर,बैकरेट सीखना,भारत में सर्वश्रेष्ठ पांच एसी,भा फुटबॉल जुड़नार,कैसीनो पूरी फिल्म,चैंपियंस लीग फ़ुटबॉल बड़े नाम गोलकीपर,क्रिकेट 5 लाइनें,मुंबई में क्रिकेट स्टेडियम,तेलुगू में esports का अर्थ होता है,फुटबॉल 400 रुपये,फुटबॉल x,एच फुटबॉल स्थिति विशेष टीमें,लाठी कैसे खेलें,क्या लाइव मनोरंजन विश्वसनीय है?,जंगल रम्मी.कॉम ऐप,लाइव कैसीनो मैरीलैंड होटल,लॉटरी इमोजी,लूडो मनी अर्निंग ऐप,आधिकारिक फुटबॉल सट्टेबाजी नेटवर्क,ऑनलाइन खेल सोने की खान,ऑनलाइन रियल मनी रूले,परिधीय सट्टेबाजी,फिल्मों से पोकर उद्धरण,रूले सबसे अच्छी रणनीति,रम्मी 2021 डाउनलोड,रम्मीकल्चर कानूनी,स्लॉट365,स्पोर्ट्स जीके पीडीएफ,भाप राज्य,सबसे अच्छी फुटबॉल सट्टेबाजी कंपनी,यूईएफए यूरोपीय कप का सीधा प्रसारण,सबसे अच्छा baccarat प्रचार और अच्छी प्रतिष्ठा कौन सी है,21 बजे zi,ऑनलाइन पैसे बनाएं online,क्रिकेट गेम्स,गोवा शिपयार्ड लिमिटेड भर्ती २०२०,तीन पत्ती विन,बरसात अमावस कब की है,भारतीय रमी,स्टेटस ऐप डाउनलोड, .सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों, पेंशधारकों का महंगाई भत्ता तीन प्रतिशत बढ़ाया

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) मंत्रिमंडल ने बृहस्पतिवार को केंद्रीय कर्मचारियों एवं पेंशनधारकों के महंगाई भत्ता और राहत में तीन प्रतिशत वृद्धि को मंजूरी दे दी। इससे 47.14 लाख कर्मचारियों और 68.62 लाख पेंशनधारकों को लाभ होगा।

सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने संवाददाताओं को बताया कि यह वृद्धि एक जुलाई 2021 से प्रभावी होगी। इस वृद्धि के बाद महंगाई भत्ता और राहत बढ़कर 31 प्रतिशत हो गयी है।

उन्होंने कहा कि इस वर्ष एक जुलाई को सरकार ने कर्मचारियों की तीन बकाया किस्तों की बहाली का अनुमोदन किया था तथा कर्मचारियों एवं पेंशनधारकों को देय महंगाई भत्ते/राहत को मूल वेतन/पेंशन के 17 प्रतिशत से बढ़ाकर 28 प्रतिशत करने का निर्णय किया था ।

ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में कर्मचारियों एवं पेंशनधारकों को देय महंगाई भत्ते/राहत तीन प्रतिशत बढ़ाने को मंजूरी दी गई ।

उन्होंने कहा कि इस निर्णय से केंद्र सरकार के 47.14 लाख कर्मचारियों और 68.62 लाख पेंशनधारकों को लाभ होगा ।

सूचना प्रसारण मंत्री ने कहा कि इस पर प्रति वर्ष 9,488 करोड़ रुपये का खर्च आयेगा।

सरकारी बयान के अनुसार, मंत्रिमंडल ने एक जुलाई 2021 से देय केंद्र सरकार के कर्मचारियों को महंगाई भत्ता और पेंशनभोगियों को महंगाई राहत की अतिरिक्त किस्त जारी करने की मंजूरी दी ।

इसमें कहा गया है कि यह वृद्धि स्वीकृत फॉर्मूले के अनुरूप है, जो सातवें केन् द्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों पर आधारित है। महंगाई भत्ता और महंगाई राहत, दोनों के कारण राजकोष पर संयुक्त रूप से प्रति वर्ष 9,488.70 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read

नयी दिल्ली 21 अक्टूबर (भाषा) सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ महाराष्ट्र का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में दोगुना बढ़कर 264 करोड़ रुपये रहा। बैंक ने शेयर बाजार को दी सूचना में कि इससे पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध लाभ 130.44 करोड़ रुपये था। बैंक की जुलाई-सितंबर, 2021 को समाप्त तिमाही के दौरान आय भी बढ़कर 3,700.44 करोड़ रुपये हो गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 3,270.07 करोड़ रुपये थी। इसके अलावा 30 सितंबर, 2021 को समाप्त तिमाही में बैंक की सकल गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए)अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.म्‍यूचुअल फंडों के एक्सपेंस रेशियो के बारे में यहां जानिए सब कुछ

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) ‘पार्टिसिपेटरी नोट’ (पी-नोट) के जरिए सितंबर के अंत तक 97,751 करोड़ रुपये का निवेश किया गया। आने वाले समय में भी इस माध्यम से निवेश का प्रवाह सकारात्मक रहने की उम्मीद है। पी-नोट पंजीकृत विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) द्वारा उन विदेशी निवेशकों को जारी किए जाते हैं जो सीधे खुद को पंजीकृत किए बिना भारतीय शेयर बाजार का हिस्सा बनना चाहते हैं। हालांकि, उन्हें एक उचित प्रक्रिया से गुजरना होता है। भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के आंकड़ों के अनुसार, भारतीयब्‍याज दरों में कटौती का फैसला वापस होने के बाद एक सामान्‍य धारणा बनी. वह यह थी कि चुनावों को देखते हुए यह फैसला लिया गया.हाजिर मांग से सोना वायदा कीमतों में तेजी

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) आईडीबीआई बैंक का शुद्ध लाभ 30 सितंबर को समाप्त चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 75 प्रतिशत बढ़कर 567 करोड़ रुपये हो गया।भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) नियंत्रित बैंक ने पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि (जुलाई-सितंबर) में 324 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था।हालांकि, तिमाही के दौरान बैंक की कुल आय एक साल पहले की समान तिमाही की तुलना में 10 प्रतिशत घटकर 5,000.64 करोड़ रुपये हो गयी। पिछले साल (जुलाई-सितंबर 2020) यह 5,569.35 करोड़ रुपये थी।निजी क्षेत्र के बैंक ने एक बयान में कहा कि जुलाई-सितंबर 2021 तिमाही के दौरान उसकी शुद्धनयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) सरकार नियामकीय जरूरतों को पूरा करने के लिए चालू वित्त वर्ष की अंतिम तिमाही के दौरान सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में पूंजी डाल सकती है। सरकार ने 2021-22 के बजट में सरकारी बैंकों में पूंजी डालने के लिए 20,000 करोड़ रुपये का आवंटन किया है। चालू वित्त वर्ष की अगली तिमाही में बैंकों की पूंजी की स्थिति की समीक्षा की जाएगी और आवश्यकता के आधार पर नियामकीय जरूरतों को पूरा करने के लिए निवेश किया जाएगा। सूत्रों ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में अब तक सार्वजनिक क्षेत्र के सभी 12 बैंकों ने लाभ कमाया है,सिप टॉप-अप फैसिलिटी के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
lovebet नवीनतम एपीके डाउनलोड

कोलकाता, 21 अक्टूबर (भाषा) पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने बृहस्पतिवार को तीन अलग-अलग अध्ययनों का हवाला देते हुए दावा किया कि नरेंद्र मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान 2014 से 2020 के बीच उच्च नेटवर्थ वाले 35,000 भारतीय उद्यमियों ने देश छोड़ दिया।उन्होंने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि क्या यह "भय की मनोवृति" के कारण हुआ। उन्होंने मांग की कि प्रधानमंत्री मोदी "अपने शासन के दौरान भारतीय उद्यमियों के भारी पलायन" पर संसद में एक श्वेत पत्र पेश करें। मित्रा ने ट्विटर पर लिखा, "मोदी सरकार के तहत उच्च नेटवर्थ वाले 35,000 भारतीय उद्यमियों ने 2014-2020 के

बेटा वाला गाना

यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.

स्पोर्ट्स लॉटरी में कैसे शामिल हों

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) मजबूत हाजिर मांग के बीच सटोरियों ने ताजा सौदों की लिवाली की जिससे स्थानीय वायदा बाजार में बृहस्पतिवार को सोने का भाव छह रुपये बढ़कर 47,505 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में दिसंबर महीने की डिलिवरी के लिये सोने की कीमत छह रुपये यानी 0.01 प्रतिशत बढ़कर 47,505 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गई। इसमें 11,425 लॉट के लिये कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि कारोबारियों द्वारा ताजा सौदों की लिवाली करने से सोना वायदा कीमतों में तेजी आई। वैश्विक स्तर पर न्यूयार्क में सोने की कीमत 0.06 प्रतिशत की तेजी

इंग्लैंड आभासी क्रिकेट

प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की सभी स्कीमों से निकासी करने की सलाह दी है. प्राइम इंवेस्टर चेन्नई की एक स्वतंत्र रिसर्च फर्म है.

रूले भविष्यवक्ता ऑनलाइन

भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
फ़ुटबॉल हैंडीकैप सट्टेबाजी की मात्रा को कहाँ देखें

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) वित्तीय खुफिया इकाई (एफआईयू) ने बृहस्पतिवार को दिल्ली उच्च न्यायालय को बताया कि धनशोधन गतिविधियों के लिए अमेरिकी ऑनलाइन भुगतान गेटवे पेपाल का दुरुपयोग किया है और उसने सीलबंद लिफाफे में कुछ दस्तावेज पेश करने की इजाजत मांगी। न्यायमूर्ति रेखा पल्ली ने हालांकि कहा कि सीलबंद लिफाफे में दस्तावेज दाखिल करने की अनुमति मांगने वाला आवेदन रिकॉर्ड में नहीं है और उन्होंने मामले को अगले साल 11 जनवरी को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किया। अदालत धनशोधन रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के कथित उल्लंघन के लिए पेपाल पर एफआईयू द्वारा लगाए गए 96 लाख रुपये के जुर्माने को