फुटबॉल वेब गेमतों

फुटबॉल वेब गेमतों

time:2021-10-21 21:38:40 फ्रैंकलिन टेम्पलटन के निवेशकों को इस हफ्ते मिलेंगे 2,962 करोड़ रुपये Views:4591

फुटबॉल खाते की अच्छी प्रतिष्ठा है फुटबॉल वेब गेमतों 188bet सहयोगी,casumo जॉइन,लेवेगास स्वागत बोनस,lovebet खाता हटाएं,lovebet ऑनलाइन लॉगिन,lovebet.com मैच डु पत्रिकाएं,या शतरंज 8 4053 चौडफोंटेन,baccarat खेल उच्चारण,बैकारेट जीतने का तरीका,जीरो नेटफ्लिक्स पर दांव,कैसीनो ताज,कैसीनो x कोई जमा बोनस नहीं,कॉम क्रिकेट कप्तान,क्रिकेट ना,एस्पोर्ट्स अकादमी,एफए पोकर लीग,फुटबॉल लाभ और हानि सूचकांक,उत्पत्ति वैश्विक कैसीनो,यूरोपीय कप के लिए ऑनलाइन बेट कैसे लगाएं,आईपीएल रिकॉर्ड,जैकपॉट ज़िहंग,लाइव कैसीनो सट्टेबाजी यूआरएल,लॉटरी 5.7.2021,लकी खेल लॉटरी ऐप,एनबीए यू.एस. सट्टेबाजी अनुपात,ऑनलाइन ड्रैगन टाइगर गेम,ऑनलाइन पोकर या लाइव,परिमच न्यूनतम शर्त,पोकर किकर,रील मुक्त स्लॉट,नियम निसी अर्थ,रम्मी वाई बुराको रेगलस,स्लॉट मशीन ऑनलाइन,खेल आनंद,स्पोर्ट्सबुक उत्तर कैरोलिना,टेक्सास होल्डम पोकर ऑनलाइन,टीआरए फुटबॉल,बैकारेट वेबसाइट कहाँ है,याकूब 0 कैसीनो धोखा,ऑनलाइन कैसीनो भारत,क्रिकेट live,गोवा डे मटका जोड़ी चार्ट,तीन पत्ती अनलिमिटेड चिप्स,बकरा खस्सी करने का तरीका,बेताब घाटी,लॉटरी शपथ, .फ्रैंकलिन टेम्पलटन के निवेशकों को इस हफ्ते मिलेंगे 2,962 करोड़ रुपये

इससे पहले फंड हाउस ने फरवरी में निवेशकों को 9,122 करोड़ रुपये का भुगतान किया था. सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार, यह भुगतान एसबीआई म्यूचुअल फंड के जरिए किया जाएगा.
फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की बंद हो चुकी स्कीमों के निवेशकों को इस हफ्ते पैसे मिल जाएंगे. कंपनी ने यह जानकारी दी है. कंपनी ने कहा है कि बंद छह स्कीमों के निवेशकों को 2,962 करोड़ रुपये इस हफ्ते मिल जाएंगे.

इससे पहले फंड हाउस ने फरवरी में निवेशकों को 9,122 करोड़ रुपये का भुगतान किया था. सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार, यह भुगतान एसबीआई म्यूचुअल फंड के जरिए किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें: वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

फ्रैंकलिन के प्रवक्ता ने कहा, "फरवरी 2021 में पांच स्कीमों के निवेशकों को 9,122 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया. हमें यह बताने में काफी खुशी हो रही है कि एसबीआई म्यूचुअल फंड 2,962 करोड़ रुपये की अगली किस्त जारी कर रही है. यह रकम सभी छह स्कीमों के निवेशकों को मिलेगी."

उन्होंने कहा, "केवायसी पूरा कर चुके ग्राहकों को 12 अप्रैल को शुरू हो रहे सप्ताह में भुगतान कर दिया जाएगा." फंड हाउस ने जानकारी दी कि ग्राहकों को ऑनलाइन भुगतान के तहत पैसा दिया जाएगा. इसके अलावा, यदि ग्राहकों ने ऑनलाइन भुगतान का चयन नहीं किया है, तो उन्हें चेक या डिमांड ड्राफ्ट द्वारा पैसा दिया जाएगा.

निवेशकों को ध्यान देना होगा कि जिन यूनिटधारकों का पैन/केवायसी, अभिभावक के आधीन कनिष्ठ और ट्रांसमिशन की जानकारी या दस्तावेज उपलब्ध नहीं हो पाएं है या अमान्य हैं, उन्हें नियामक अनुपालनों को पूरा करने के बाद ही भुगतान किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें: किसे सता रहा अमेरिका में महंगाई बढ़ने का डर?

इसमें फ्रैंकलिन अल्ट्रा शॉर्ट बॉन्ड की 28.42 फीसदी, फ्रैंकलिन इंडिया लो ड्यूरेशन फंड की 14.18 फीसदी, फ्रैंकलिन शॉर्ट टर्म इनकम फंड की 13.37 फीसदी, फ्रैंकलिन इंडिया इनकम ऑपर्च्युनिटीज फंड की 6.67 फीसदी, फ्रैंकल इंडिया क्रेडिट रिस्क फंड की 11.22 फीसदी और फ्रैंकलिन इंडिया डायनेमिक अक्रूअल फंड की 11.23 फीसदी हिस्सेदारी है.

इस पत्र के अनुसार, भुगतान की जाने वाली राशि का आंकलन नीचे दी गई टेबल के आार पर होगा और सभी यूनिट को समाप्त करने के एवज में फंडों का भुगतान किया जाएगा. ग्राहकों को टीडीएस काटकर पैसा दिया जाएगा.

franklin-11.





हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

सेबीशेयर बाजारम्यूचुअल फंडएसबीआई म्यूचुअल फंडफ्रैंकलिन टेम्पलटन इंडियाफ्रैंकलिन टेम्पलटनसुप्रीम कोर्ट

ETPrime stories of the day

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read
MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read

भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.साल में कम से कम एक निवेश की समीक्षा जरूर करें और दोबारा संतुलन बनाएं. अपने लिए पर्याप्‍त लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदें.एनपीएस में निवेश किया है? जानिए एसेट एलोकेशन में कैसे करें बदलाव

भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.यूनिट लिंक्ड इंश्‍योरेंस प्‍लान यानी यूलिप और म्यूचुअल फंड कई मायनों में अलग होते हैं. यह और बात है कि कई लोग इन्‍हें एक जैसा प्रोडक्ट समझने की भूल कर बैठते हैं. आपको भी अगर ऐसी गलतफहमी है तो यहां हम इन दोनों के बीच कुछ महत्वपूर्ण अंतरों के बारे में बता रहे हैं.बेटी की उम्र 8 साल है, सुकन्या समृद्धि और पीपीएफ में से किसमें निवेश करना फायदेमंद?

अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.प्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्यूचुअल फंड की सभी स्कीमों से निकासी करने की सलाह दी है. प्राइम इंवेस्टर चेन्नई की एक स्वतंत्र रिसर्च फर्म है.म्यूचुअल फंडों का एयूएम 41% बढ़कर 31.43 लाख करोड़ रुपये पहुंचा

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
lovebet बेटस्लिप चेक

फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.

आभासी क्रिकेट टिकट

सक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है.

गोकू खजाना

बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है.

10cric एक्सचेंज

फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड ने शुक्रवार को कहा कि उसकी छह योजनाओं को अप्रैल 2020 में बंद होने के बाद से 15,776 करोड़ रुपये मिले हैं.

घर के लिए स्लॉट मशीन

ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी