lovebet ग्रुप लिमिटेड

lovebet ग्रुप लिमिटेड

time:2021-10-25 18:19:59 आस्ट्रेलिया ने 2050 तक शून्य कार्बन उत्सर्जन के लक्ष्य को सैद्धांतिक मंजूरी दी Views:4591

बैकारेट संग्रहालय lovebet ग्रुप लिमिटेड 188bet थाईलैंड,fun88 बोनस,lovebet 288 एमएक्स,lovebet गेम्स ऐप,lovebet श कैसीनो,lovebetना एंड्रॉइड,बैकारेट 540 नमूना,बैकारेट एल'ओम्ब्रे संग्रह,सर्वश्रेष्ठ पांच इनडोर पौधे,लाठी live.com,कैसीनो ग्रैन मैड्रिड,शतरंज पहली चाल,क्रिकेट 786,क्रिकेट आज,एस्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म,फ़ुटबॉल 6 जून 2021,फुटबॉलरों का नाम,है क्रिकेट,एमपीएल में पूल कैसे खेलें,क्या ऑनलाइन बैकारेट सुरक्षित है?,के क्रिकेट क्लब,लाइव कैसीनो खाता खोलें मुफ्त नकद,लॉटरी फ्लोरिडा,लूडो पैसा कमने वाला,ऑनलाइन खाता खोलने वाला URL,ऑनलाइन गेम धोखेबाज,ऑनलाइन स्लॉट अल्बर्टा,बैकरेट फोरम खेलें,पोकर टेबल टॉप,रूले डिश,रमी 45 डाउनलोड,रम्मीकल्चर नंबर,स्लॉट 40 लाइनें,खेल आधा पंत,टी लॉटरी पोस्ट,सबसे अच्छा टेक्सास होल्डम गेम,हमें लॉटरी 2020,किसमें बैकारेट खेलना है?,chess अर्थ,ऑनलाइन बैकारेट भ्रामक है,क्रिकेट छोरी,घड़ी लाटरी,तीन बाघ ™,बरसात एल्बम,मार्क छह लॉटरी,स्टेटस के गाने, .आस्ट्रेलिया ने 2050 तक शून्य कार्बन उत्सर्जन के लक्ष्य को सैद्धांतिक मंजूरी दी

कैनबरा, 25 अक्टूबर (एपी) ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने सोमवार को घोषणा की कि 2050 तक निवल शून्य (नेट जीरो) कार्बन उत्सर्जन के राष्ट्रीय लक्ष्य के लिए सरकार की गठबंधन साझेदार का समर्थन हासिल करने की खातिर किए गए समझौते के तहत कैबिनेट में ‘नेशनल पार्टी ऑफ ऑस्ट्रेलिया’ के पांचवें मंत्री को शामिल किया जाएगा।

लक्ष्य के प्रति रविवार को बैठक में प्राप्त हुआ, ‘नेशनल पार्टी ऑफ ऑस्ट्रेलिया’ यानी ‘द नेशनल्स’ का सैद्धांतिक समर्थन प्रधानमंत्री मॉरिसन के लिए बड़ी सफलता है। मॉरिसन स्कॉटलैंड के ग्लासगो में आयोजित संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के लिए बृहस्पतिवार को रवाना होने से पहले ऑस्ट्रेलिया के ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन को कम करने के लिए अधिक महत्वाकांक्षी योजना बनाना चाहते हैं।

‘द नेशनल्स’ के सांसदों ने इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी है कि उन्होंने लक्ष्यों के प्रति समर्थन देने के लिए क्या शर्तें रखी हैं। मॉरिसन की कैबिनेट इन शर्तों पर विचार कर रही है।

नेशनल्स के नेता बार्नबी जॉयस ने यह बताने से इनकार कर दिया कि क्या पार्टी ने संसाधन मंत्री कीथ पिट को नेशनल्स का पांचवां कैबिनेट मंत्री बनाए जाने की मांग की थी। बाद में मॉरिसन ने कहा कि पिट उनकी कैबिनेट में शामिल होंगे। पिट ऑस्ट्रेलिया के दशकों तक कोयला खनन जारी रखने के समर्थक हैं।

मॉरिसन ने एक बयान में कहा, ‘‘मंत्री पिट संसाधन क्षेत्र में एक शक्तिशाली आवाज हैं और वह यह सुनिश्चित करने के लिए भी अहम हैं कि हम नई ऊर्जा अर्थव्यवस्था और महत्वपूर्ण खनिजों संबंधी अवसरों का दोहन करते हुए पारंपरिक निर्यात में ऑस्ट्रेलिया की ताकत बढ़ाएं।’’

जॉयस ने न तो इस बात की पुष्टि की और न ही इस बात का खंडन किया कि उन्होंने अपने सहयोगियों को बताया था कि वह निवल शून्य कार्बन उत्सर्जन का विरोध करते हैं। जॉयस ने ‘ऑस्ट्रेलियन कोर्प’ रेडियो से कहा, ‘‘यदि नेशनल्स प्रस्ताव से शत-प्रतिशत खुश होते, तो उन्हें वार्ता नहीं करनी पड़ती।’’

नेशनल्स के उप नेता डेविड लिटिलप्राउड ने कहा कि समझौते की विस्तृत जानकारी मंगलवार की सुबह तक सार्वजनिक की जाएगी। उन्होंने कहा कि कैबिनेट के प्रस्ताव में नेशनल्स द्वारा कराए गए संशोधन ग्रामीण ऑस्ट्रेलिया में नौकरियां बचाएंगे।

उत्सर्जन में कमी ऑस्ट्रेलिया में राजनीतिक रूप से एक जटिल मुद्दा है। ऑस्ट्रेलिया कोयले और तरल प्राकृतिक गैस के दुनिया के सबसे बड़े निर्यातकों में से एक है। कोयले से पैदा की जाने वाली बिजली पर भारी निर्भरता के कारण ऑस्ट्रेलिया दुनिया के सबसे अधिक, प्रति व्यक्ति ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जक देशों में शामिल है।

ग्रामीण व्यवस्था को प्रधानता देने वाले नेशनल्स पारंपरिक रूप से किसानों के हितों का प्रतिनिधित्व करते आए हैं, लेकिन उन्हें अब जीवाश्म ईंधन उद्योगों के समर्थकों के तौर पर देखा जाता है।

ऑस्ट्रेलिया ने 2015 में पेरिस जलवायु सम्मेलन में संकल्प लिया था कि वह 2030 तक, कार्बन उत्सर्जन स्तर में 26 से 28 प्रतिशत की कमी लाएगा। इसके बाद से ऑस्ट्रेलिया ने इस दिशा में कोई लक्ष्य तय नहीं किया है, जबकि कई देश इससे कहीं अधिक महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित कर रहे हैं।

एपी

सिम्मी मनीषा

मनीषा

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.
Electric vehicles

Can Hero Electric keep going as Ather, Ola rev up e-scooters? One puzzle Naveen Munjal is solving.

11 mins read
Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed
Environment

Survival of the richest: why investment in conservation is horribly skewed

6 mins read
After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?
Recent hit

After a robust rally, pharma stocks feel under the weather. But do they make a case for value buy?

9 mins read

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) टीवीएस मोटर कंपनी ने सोमवार को कहा कि उसने इराक में अपनी उपस्थिति मजबूत करने के लिए बाहवान इंटरनेशनल समूह के साथ समझौता किया है। इस समझौते के तहत बाहवान इंटरनेशनल समूह (बीआईजी) की सहायक अराता इंटरनेशनल एफजेसी इराक में टीवीएस की नई वितरक होगी। इस साझेदारी के जरिए समूह ओमान और भारत के बीच सहयोग के दूसरे रास्ते भी तलाशेगा। टीवीएस मोटर कंपनी के संयुक्त प्रबंध निदेशक सुदर्शन वेणु ने एक बयान में कहा, ‘‘इराक हमारे लिए एक महत्वपूर्ण बाजार है, और हमारे साझा लोकाचार और मूल्यों के साथ ही अराता इंटरनेशनल एफजेडसी का व्यापककैनबरा, 25 अक्टूबर (एपी) ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने सोमवार को घोषणा की कि 2050 तक निवल शून्य (नेट जीरो) कार्बन उत्सर्जन के राष्ट्रीय लक्ष्य के लिए सरकार की गठबंधन साझेदार का समर्थन हासिल करने की खातिर किए गए समझौते के तहत कैबिनेट में ‘नेशनल पार्टी ऑफ ऑस्ट्रेलिया’ के पांचवें मंत्री को शामिल किया जाएगा। लक्ष्य के प्रति रविवार को बैठक में प्राप्त हुआ, ‘नेशनल पार्टी ऑफ ऑस्ट्रेलिया’ यानी ‘द नेशनल्स’ का सैद्धांतिक समर्थन प्रधानमंत्री मॉरिसन के लिए बड़ी सफलता है। मॉरिसन स्कॉटलैंड के ग्लासगो में आयोजित संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के लिए बृहस्पतिवार को रवाना होने से पहलेGuava Farming: सर्दियों में महंगा रह सकता है अमरूद का जायका, वर्ल्ड फेमस इलाहाबादी अमरूद झेल रहा कम उत्पादन की मार

युवा खासतौर से डायमंड ज्‍वेलरी खरीदने में दिलचस्‍पी लेते हैं. 10,000-20,000 रुपये की रेंज में लो प्राइस डायमंड ज्‍वेलरी के खासतौर से अच्‍छा करने की उम्‍मीद है.मीम क्रिप्टो शीबा इनू (Shiba Inu) की कीमत में रविवार को 50 फीसदी की तेजी आई और यह मार्केट वैल्यू के हिसाब से दुनिया की 11वीं सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी बन गई। एक साल में यह 4.5 करोड़ फीसदी यानी 4.5 लाख गुना उछल चुकी है।सर्दियों में राजस्थान घूमने जाना होगा आसान, स्पाइसजेट शुरू कर रही 28 नई उड़ानें; टाइम टेबल की ये है डिटेल

जो लोग इन कीमती धातुओं को नहीं खरीद सकते, वे इस साल दो दिन मनाए जा रहे धनतेरस त्योहार के मौके पर स्टील के बर्तन खरीद रहे हैं.धनतेरस और दिवाली के दिन सोना खरीदना शुभ माना जाता है.स्पाइसजेट ने 28 नई घरेलू उड़ानें शुरू करने की घोषणा की

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
सबसे प्रतिष्ठित फ़ुटबॉल सट्टेबाजी साइट

नयी दिल्ली, 25 अक्टूबर (भाषा) भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सोमवार को कहा कि एक लचीली अर्थव्यवस्था के लिए निष्पक्ष और मजबूत ऑडिट व्यवस्था जरूरी है, क्योंकि इससे नागरिकों में भरोसा पैदा होता है। दास ने नेशनल एकेडमी ऑफ ऑडिट एंड अकाउंट्स में अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि ऑडिट देश के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि सार्वजनिक व्यय के फैसले इन्हीं रिपोर्ट पर आधारित होते हैं। उन्होंने कहा कि उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर पहले से अधिक आर्थिक फैसले किए जा रहे हैं, इसलिए गलत जानकारी के चलते अपेक्षा से कमतर निर्णय हो सकता है। उन्होंने

जोड़ों के लिए ऑनलाइन खेल

पहले ही कार बनाने वाली कई कंपनियां अपने-अपने मॉडलों के दाम बढ़ाने का एलान कर चुकी हैं. ये जनवरी से गाड़‍ियों के दाम बढ़ाएंगी. इन कंपनियों में मारुति सुजुकी, फोर्ड, महिंद्रा एंड महिंद्रा और रेनॉ शामिल हैं.

बैकारेट मार्टिनी ग्लास

राजस्थान सर्दियों के दौरान देश के सबसे पसंदीदा पर्यटन स्थलों में से एक है। मांग में सुधार के साथ स्पाइसजेट (SpiceJet) अधिक नई उड़ानें शुरू करने के लिए प्रतिबद्ध है, जो यात्रा और पर्यटन को पुनर्जीवित करने में मदद करेगा।

यूनिबेट नौकरियां

मारुति सुजुकी इंडिया, फोर्ड इंडिया और महिंद्रा एंड महिंद्रा जैसी वाहन कंपनियां भी जनवरी से अपने वाहनों के दाम में बढ़ोतरी की घोषणा कर चुकी हैं.

खेलकूद गतिविधियां

इसके पहले मारुति सुजुकी, फोर्ड, महिंद्रा एंड महिंद्रा, रेनॉ और होंंडा अपनी कारों के दाम बढ़ाने का एलान कर चुकी हैं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
जोकर लाई लाई रिंगटोन डाउनलोड

बारिश के मौसम की फसल अत्यधिक थी और यह सितंबर तक जारी रही। बरसात के मौसम की फसल की अधिकता के कारण सर्दियों की फसल के उत्पादन के लिए नए कल्ले नहीं निकले। किसानों ने बताया कि सर्दियों की फसल पिछले वर्ष की फसल का लगभग 20 प्रतिशत थी। वर्षा ऋतु की फसल की अधिक मात्रा का एक कारण हल्का तापमान (ग्रीष्मकाल के दौरान सामान्य तापमान से 4-5 डिग्री सेल्सियस कम) था।मिट्टी में पानी की कमी और उच्च तापमान, बरसात के मौसम की फसल को समाप्त करने का प्राकृतिक तरीका है। गर्मी में मिट्टी में कम नमी के कारण फूल और छोटे फल गिर जाते हैं। इस वर्ष गर्मी में नियमित वर्षा और सामान्य से कम तापमान के कारण उक्त परिस्थिति उत्पन्न नहीं हुई। परिणाम स्वरूप बरसात की फसल की फलत अधिक रही और जुलाई से सितंबर तक फूल निकल नहीं पाए और यह स्थिति सर्दियों की कम फसल के लिए जिम्मेदार थी।